शिल्प ही जीवन का आधार, शिल्प बिना सूना संसार