मुख्यपृष्ठ

अग्रवाल जाति नहीं एक विचारधारा का नाम (Agrawal is not a Caste but an Ideology Name)

अग्रवाल जाति नहीं एक विचारधारा का नाम (Agrawal is not a Caste but an Ideology Name)

अग्रवाल जाति नहीं एक विचारधारा का नाम (Agrawal is not a caste but an ideology name)मानव समाज की समस्त इकाईयाँ एक ही विचारधारा, एक ही रूचि, एक ही प्रकार के कार्यों में दक्ष, एक ही प्रकृति की नहीं हो सकती। दो घास की पत्तियाँ, गेहूँ की एक ही बाली के समस्त दानें एक ही आकार-प्रकार के नहीं हो सकते। एक ही पिता के संतानें भी शक्ति, गुण, ओज, रूचि व योग्यता में भिन्न-भिन्न होती है इसीलिये मनु महाराज जैसे मनीषियों ने मुख्य-मुख्य गुणों और शक्तियों, सोच और विचार धारा एवं कर्म के आधार पर समाज को ब्राह्मण, क्षत्रिय, वैश्य एवं शुद्र... ...
महाराजा अग्रसेन ( Maharaja Agrasen )

महाराजा अग्रसेन ( Maharaja Agrasen )

महाराजा अग्रसेन ( Maharaja Agrasen )(७ अक्टूबर २०२१ – ५१४५ वाँ जयंती पर्व)वर्तमान में जहाँ राजस्थान व हरियाणा राज्य है इन राज्यों के बीच सरस्वती नदी बहती थी, इसी सरस्वती नदी के किनारे प्रतापनगर नामक एक राज्य था। भारतेन्दु हरिशचन्द्र के अनुसार-मांकिल ऋषि जिन्होंने वेद-मंत्र की रचनाएं की थी, की परम्पराओं में राजा धनपाल हुए। धनपाल ने प्रतापनगर राज्य बसाया था, भारतेन्दु हरिश्चन्द्र द्वारा लिखित महालक्ष्मी व्रत कथा और गुरूकुल कांगडी विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ.सत्यकेतु विद्यालंकार द्वारा रचित ‘अग्रवाल जाति का प्राचीन इतिहास’ में छपा है कि राजा धनपाल की छठी पीढ़ी में महाराजा वल्लभ प्रतापनगर के शासक बने। महाराजा वल्लभ... ...
सेठ जमनादास नंदलाल ट्रस्ट (पंजी.) Seth Jamnadas Nandlal Trust (Regd.)

सेठ जमनादास नंदलाल ट्रस्ट (पंजी.) Seth Jamnadas Nandlal Trust (Regd.)

ग्राम सिंघाना तहसील भुवाना जिला झुंझुनूं (राज) (Village Singhana Tehsil Bhuwana District Jhunjhunu (Raj)) सेठ जमनादास नंदलाल ट्रस्ट (पंजी.) ग्राम सिंघाना तहसील भुवाना जिला झुंझुनूं (राज) (Seth Jamnadas Nandlal Trust (Regd.) Village Singhana Tehsil Bhuwana District Jhunjhunu (Raj))ग्राम सिंघाना शेखावटी क्षेत्र में आता है, यह कस्बा चारों तरफ से मनमोहक पहाड़ियों से घिरा हुआ है। दिल्ली एवं जयपुर से रोड द्वारा लगभग ­१८० किलोमीटर, खेतड़ी से लगभग २० किलोमीटर, चिड़ावा से लगभग २१ किलोमीटर, नारनौल से लगभग ३५ किलोमीटर की दूरी पर एवं तांबे की खान से केवल ५ किलोमीटर की दूरी पर आबाद है। गांव में शीतला माता का एक... ...
सिद्ध संत श्री स्वरूपनाथ जी को २०० गांवों ढाणीयों के लोग पुजते है कुल देवता के रूप में (Siddha Saint Shri Swaroopnath ji The people of 200 villages of Dhanis are worshiped as the total deity)

सिद्ध संत श्री स्वरूपनाथ जी को २०० गांवों ढाणीयों के लोग पुजते है कुल देवता के रूप में (Siddha Saint Shri Swaroopnath ji The people of 200 villages of Dhanis are worshiped as the total deity)

सिद्ध संत श्री स्वरूपनाथ जी को २०० गांवों ढाणीयों के लोग पुजते है कुल देवता के रूप में (Siddha Saint Shri Swaroopnath ji The people of 200 villages of Dhanis are worshiped as the total deity)मण्ढी वाले बाबा के नाम से विख्यात दो किलोमीटर पहाड़ी पर स्थित बाबा का मंदिर सिंघाना-अरावली पर्वत श्रृंखला की गुफाओं के उत्तरी छोर में स्थित बनवास के सघन वन के पास ही लोह अयस्क से भरपुर पहाडी की खोह में ‘सिंघाना’ शहर बसा हुआ है, इस कस्बे के नामकरण के बारे में लोग बताते है कि सिंह मारने वाले योद्धाओं के नाम से ही सिंहमार से... ...
शेखावाटी में सिंघाना (Singhana in Shekhawati in Hindi)

शेखावाटी में सिंघाना (Singhana in Shekhawati in Hindi)

शेखावाटी में सिंघाना (Singhana in Shekhawati in Hindi)‘सिंघाना’ भारत में राजस्थान के झुंझुनूं जिले में स्थित उप-तहसील और पंचायत समिति वाला एक शहर है। यह तांबे के उत्पादन में सरकारी स्वामित्व वाली कंपनी खेतड़ी कॉपर लिमिटेड के पास स्थित है, जो एशिया की सबसे बड़ी तांबा उत्पादक कंपनी थी। दिल्ली, जयपुर, अलवर और बीकानेर के लिए नियमित अंतराल पर बसें उपलब्ध होने के कारण ‘सिंघाना’ में परिवहन की अच्छी सुविधा है। स्थान ‘सिंघाना’ जिला झुंझुनूं, राजस्थान, भारत में स्थित है। इसके भौगोलिक निर्देशांक २८ष्ट ५’र्‍, ७५ष्ट ५०’E हैं। यह झुंझुनूं से ६० किमी पूर्व, बुहाना से १३ किमी, जयपुर से १६५ किमी... ...